How to Do Meditation in Hindi

क्या आप भी लम्बे समय तक जवान दिखना चाहते हैं? क्या आप स्वस्थ और निरोगी रहने का राज़ google पर ढूंढ़ते हैं? क्या आप अपनी याददाश्त को बढ़ाना चाहते हैं? अगर हां, तो आप बिलकुल सही जगह आए हैं| आज हम आपको बताने वाले हैं एक ऐसे नुस्खे के बारे में जिसकी मदद से आप इन सभी ‘क्या’ का जवाब ढूंढ सकते हैं| आज हम आपको Meditation In Hindi में समझने वाले हैं| हमारे साथ अंत तक बने रहिएगा|

क्या है Meditation? | What is Meditation in Hindi

दोस्तों, इससे पहले कि हम आपको meditation के फायदे और नुकसान के बारे में बताएं| सबसे पहले आपको ये जान लेना चाहिए कि meditation किसे कहते हैं| दरअसल, meditation एक प्रक्रिया है जिसमें आप एक जगह पर बैठकर किसी एक वस्तु या बिंदु पर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं|

meditation एक तरह का अभ्यास है जो हमारी body को relax करता है और हमारे mind को पहले से भी ज्यादा active बना देता है| यही कारण है की हमारे देश के ऋषि मुनियों ने मेडिटेशन यानी ध्यान केंद्रित करने पर जोर दिया| कुछ लोगों का मानना है कि meditation योग का ही एक स्वरूप है|

Friends आज हम आपको Meditation In Hindi में समझा रहे हैं| Meditation In Hindi में ही आप अपने दोस्तों तथा रिश्तेदारों को समझाएंगे तो उनको भी जल्दी समझ आ जाएगा| 

यहां तक की मेडिटेशन के जरिए हम अपनी कुंडलिनी शक्ति को भी जागृत कर सकते हैं| जो आपने धारावाहिक ‘शक्तिमान’ में भी शक्तिमान को करते हुए देखा ही होगा| हालांकि शक्तिमान की ज्यादातर पात्र और घटनाएं काल्पनिक थे लेकिन ये बात सच है की हमारे शरीर में 7 प्रकार की कुंडलिनी चक्र मौजूद होते हैं|  उन्हें जागृत करके हम असीम शक्तियों को प्राप्त कर सकते हैं|

Types of Meditation

Types of Meditation
how to do meditation in hindi

त्राटक

दोस्तों, त्राटक meditation की पहली विधि होती है| अगर अर्थ की बात करें तो त्राटक का अर्थ है किसी भी चीज़ को एक टक देखते रहना| या यूं कहें लगातार देखते रहना| इसमें अपनी पूरी ध्यान ऊर्जा को किसी भी एक केंद्र या बिंदु पर केंद्रित करना होता है| इसे तीन प्रकार से किया जा सकता है| चलिए इसके बारे में detail में जानते हैं|

त्राटक को करने के तरिके

मोमबत्ती या दीपक के द्वारा

दोस्तों, meditation के सबसे पहले प्रकार त्राटक को करने की पहली विधि है मोमबत्ती या दीपक को जलाएं| उसके बाद उसकी लॉ पर अपनी आंखों के जरिए सारा ध्यान केंद्रित करें|

दीवार या कागज के जरिए

दूसरे तरीके में, त्राटक का अभ्यास आप किसी सफ़ेद दीवार या सफ़ेद कागज़ पर काला बिंदु बना कर भी कर सकते हैं| आपको इस काले बिंदु पर अपनी आखें गड़ाए रखनी है|

किसी भी वस्तु पर ध्यान केंद्रित करके

साथियों, तीसरा तरीका है की आपको किसी भी एक वस्तु को अपनी इच्छा अनुसार चुन लेना है जैसे कोई गिलास, मग, जग आदि| अब आपको इसे अच्छे से एकटक देखते रहना होगा|

त्राटक के अभ्यास के लिए नियम

दोस्तों, त्राटक के अभ्यास के लिए आपको सुख आसन, वज्रासन, पद्मासन, सिद्ध आसन, अर्धपद्मासन, किसी भी एक आसन में बैठ जाना है जिसमें आपका comfort zone हो|

यदि किसी कारण वश आप जमीन पर ना बैठ पाएं तो आप कुर्सी का भी प्रयोग कर सकते हैं| लेकिन कोशिश करनी चाहिए की जमीन पर बैठकर ही इसका अभ्यास किया जाए|

याद रहे, त्राटक का अभ्यास करते समय आपकी पीठ और गर्दन बिल्कुल सीधी होनी चाहिए|

चाहे आप जमीन पर बैठे हों या बिस्तर पर, आपको ऐसे आसान का चयन करना है जिसमें आपका शरीर बिना हिले डुले बिल्कुल स्थिर अवस्था में रहे| आपको अपने शरीर को वैसे ही स्थिर रखना है जैसे कोई मूर्ती बिना हिले स्थिर रहती है|

आपको अपने हाथ घुटनों के ऊपर सीधे खुले रखने होंगे| या आप चाहें तो अपने हाथों को ज्ञान या फिर अंजलि मुद्रा में भी रख सकते हैं|

जिस वस्तु का त्राटक किया जा रहा है उस वस्तु और आपके बीच करीब एक फुट की दूरी होनी चाहिए| यानी आपकी आखों से 1 से डेढ़ फिट की दूरी पर आपका त्राटक रखा होना चाहिए|

जिस वस्तु पर आप त्राटक क्रिया कर रहे हैं वो वस्तु आपकी आखों के बिल्कुल सामने होनी चाहिए| जिससे आपकी गर्दन और पीठ सीढ़ी रह सके| आपका त्राटक वास्तु आँखों से नीचे या ऊपर न हो बल्कि एकदम सीध में हो|

त्राटक का अभ्यास कब करना चाहिए?

दोस्तों, त्राटक का अभ्यास आप किसी भी समय कर सकते हैं| लेकिन इसका लाभ आपको सुबह के समय अभ्यास करने पर ज्यादा देखने को मिल सकता है|

जो लोग सोते वक्त करवटें बदलते रहते हैं या जो लोग अनिद्रा की समस्या से परेशान हैं उन्हें इसका अभ्यास रात को सोने से पहले करना है|

त्राटक को आप आसन और प्राणायाम के बाद करें तथा मंत्रोच्चारण, ॐ का उच्चारण तथा ध्यान के अभ्यास से पहले कर सकते हैं|

अगर आप पहली विधि यानी मोमबत्ती या दिया जलाकर इसका अभ्यास करना चाहते हैं तो दो बातों का विशेष तौर पर ध्यान रखें| इसके लिए आप जिस कमरे में बैठें वहां पूरी तरह से अंधेरा होना चाहिए| एक सुई की बराबर भी कहीं से रौशनी न आती हो उस समय आपको दिया या मोमबत्ती प्रज्ज्वलित करनी है|

एक और बात जो आपको ध्यान देनी है वो ये है की ऐसे कमरे का चयन करें जिसमें कहीं से भी हवा का झोंका न आता हो| क्योंकि अगर लॉ पर हवा पड़ेगी तो लॉ भटकेगी या बुझ भी सकती है| 

हमारे ग्रंथों में इस बात का जिक्र मिलता है की जब भी त्राटक का प्रयोग किया जाए तो कोशिश करनी चाहिए की दिया से ही करें| क्यूंकि अगर आप मोमबत्ती से त्राटक का अभ्यास करेंगे तो जैसे जैसे मोम पिघलती जाएगी वैसे वैसे आपका केंद्र बिंदु यानि मोमबत्ती की लॉ नीचे होती जाएगी और आपको गर्दन नीचे झुकानी पड़ेगी|

External Meditation या बाह्य ध्यान

दोस्तों, meditation का जो अगला तरीका है उसका नाम है external meditation| इसके अंतर्गत हमें प्रकृति द्वारा दी गई वस्तुओं जैसे पेड़ पौधे, पहाड़, नदियां, झरने, वन, पशु, पक्षी आदि के साथ meditation करना| या जो वस्तुएं ब्रम्हांड में मौजूद हैं जैसे तारे, चाँद, ग्रह अदि उनको देखते हुए meditation करना| जिन्हें देखने से हमारे मन को सुकून मिलता हो उन वस्तुओं को एक टक देखना ही external meditation कहलाता है|

Musical Meditation

Friends, जब हम कोई ऐसा संगीत सुनते हैं जिसे सुनकर हमारे मन को अपार शांति की अनुभूति होती है तो उसे हम musical meditation कहते हैं| हमें संगीत से अपने मन को जोड़ना होता है| उस समय हमें अपना सारा ध्यान उसी संगीत तक केंद्रित करना होता है|

How to Do Meditation in Hindi

दोस्तों, आज हम आपको How To Meditation In Hindi में बता रहे हैं| हमने जो points बताए हैं उन्हें एक बार फिर से दोहरा देते हैं|

आपको meditation के दौरान अपने मन से सभी नकारात्मक यानी negative विचारों को निकाल देना है|

कोशिश करिए की जब आप त्राटक विधि से meditation करें तो आपका त्राटक यानी जिसको आपकी आंखें देखेंगी यानी आपका त्राटक, वो बिल्कुल आपकी आंख की सीध में होना चाहिए|

जब भी आप meditation करने बैठें तो आप अपने mobile को silent पर रखें| ताकि फ़ोन बजने से आप disturbe न हों|

मेडिटेशन के लिए आप कोई ऐसी जगह चुनें जहां पूर्ण शान्ति का माहौल हो|

निष्कर्ष | Conclusion

आज आपने हमारे इस article में जाना कि meditation क्या होता है| साथ ही हमने आपको ये भी बता दिया है कि meditation के लिए कौन सा समय उचित रहता है| बेहतर यही होगा की आप दिन के समय ही मेडिटेशन करें| meditation की कौन कौन से प्रकार हैं इसपर भी हमने चर्चा की| 

हमने आपको meditation के तीन प्रकार बताए जिसमें musical meditation, external मेडिटेशन और त्राटक meditation शामिल हैं| 

दोस्तों अगर आपको How to Earn Money Online के बारे में भी जानना है तो आप हमारा ये article भी पढ़ सकते हैं| अगर online पढ़ाई के लिए timetable कैसे बनाएं इसकी भी जानकारी आपको चाहिए तो आप हमारा ये article जरूर पढ़ें| हमारी पोस्ट Meditation In Hindi को शेयर करना तो बिलकुल भी न भूलें|

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest articles

How to Insert Page Number in Word | How to Insert Page Number in MS Word

हमारे सभी पाठकों का हम बहुत बहुत स्वागत करते हैं| आज हम बताएंगे How To Insert Page Number In Word? अगर...

How to Underline in Whatsapp | How to Underline Text in Whatsapp

नमस्कार दोस्तों| आज हम आपको बताएंगे How To Underline In Whatsapp? इस article के माध्यम से आपको बहुत सारी जानकारी मिलने...

How To Get Airtel Number | Airtel Number Check Code

How To Get Airtel Number ये हमारा आज के Article का Topic रहेगा| हमें उम्मीद है दोस्तों, की इस Article को...

How To Port Jio To Airtel | How to Port Jio to Airtel Online

हमारी website पर आप सभी पाठकों का स्वागत है| आज हम आपको बताएंगे How To Port Jio To Airtel | इससे...

Paheli in Hindi: Paheli With Answer | हिंदी पहेली उत्तर सहित

नमस्कार दोस्तों| स्वागत है आपका हमारी website पर| आज हम आपको Paheli In Hindi में बताने वाले हैं| पहेली बच्चों से...

Newsletter

Subscribe to stay updated.