Hindi Varnamala Chart को विस्तार से जानिए

आज हम आपके लिए लाए हैं Hindi Varnamala Chart| इसमें आप ए से के तक Hindi Varnamala Chart कि सभी शब्दों को पढ़ सकते हैं। हिंदी वर्णमाला में लेखन के आधार पर 52 अक्षर हैं, जिनमें 13 स्वर, 35 व्यंजन और 4 संयुक्त व्यंजन हैं। आइए पढ़ते हैं हिंदी वर्णमाला से जुड़ी कुछ अहम सवालों के जवाब। हिन्दी प्राचीन भाषाओं में से एक है। यह भारत की राष्ट्रभाषा भी है। बॉलीवुड में सभी फिल्में और फिल्में इसी भाषा में बनती हैं। हिंदी भाषा भारत में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है और यह उत्तर भारत में सबसे अधिक बोली जाती है। यह भी माना जाता है कि हिंदी भाषा संस्कृत भाषा का रूपांतरण है। हिंदी वर्णमाला को दो भागों स्वर और द्वित्व व्यंजन में बांटा गया है। स्वर वर्णमाला में 12 अक्षर और व्यंजन में 36 अक्षर हैं, जिसमें कुल 48 अक्षर बनते हैं। अक्षर क से ज्ञ तक पूरे होते हैं। हिंदी में वर्णमाला का पहला अक्षर है और ज्ञ अंतिम अक्षर है|

दुनिया में लाखों भाषाएं बोली जाती हैं और हर भाषा के लिखने या बोलने के कुछ नियम होते हैं। इन नियमों को हम हिंदी में व्याकरण या व्याकरण के अंतर्गत पढ़ते हैं hindi varnamala chart।

व्याकरण की परिभाषा- हम अंग्रेजी में व्याकरण और व्याकरण को किसी भी भाषा को ध्यान से लिखने, बोलने और पढ़ने का ज्ञान कहते हैं। मैं अभी आपको ग्रामर के बारे में इसलिए बता रहा हूं क्योंकि हम जो अक्षर (हिंदी वर्णमाला) के बारे में पढ़ने जा रहे हैं वह भी हिंदी व्याकरण के अंतर्गत आता है।

आपको याद होगा कि जब भी हम बचपन में स्कूल जाना शुरू करते हैं, तो शुरुआत में हमें हिंदी वर्णमाला और अंग्रेजी वर्णमाला सिखाई जाती है ताकि हम लिखना और बोलना सीख सकें। लेकिन व्याकरण की दृष्टि से उस समय हमें हिन्दी वर्णमाला तो सिखाई जाती है लेकिन वह आधी अधूरी होती है।

1. अक्षर क्या है?

अक्षरों के व्यवस्थित समूह को अक्षर कहते हैं।

उच्चारण और प्रयोग के आधार पर हिंदी वर्णमाला के दो भेद हैं:

स्वर

व्यंजन

2. स्वर क्या है?

वे अक्षर जिसका उच्चारण बिना किसी अन्य अक्षर की सहायता के स्वतंत्र रूप से किया जाता है, स्वर कहलाते हैं। 

हिन्दी में 11 स्वर होते हैं- अ, आ, ई, ई, उ, ऊ, री, ए, आ, ओ, औ।

• अनुस्वार – अं

• विसर्ग – ए:

• अनुस्वार और विसर्ग को अयोगवाह भी कहा जाता है।

स्वरों की कुल संख्या = 4 ( अ, ई, ऊ, ऋ)

दीर्घ स्वरों की कुल संख्या = 7 (आ, ई, ऊ, ए, ए, ओ, औ)

3. व्यंजन क्या है?

जिन अक्षरों के उच्चारण में स्वरों का प्रयोग होता है, व्यंजन कहलाते हैं।

हिन्दी में 41 व्यंजन होते हैं।

क ख ग घ ङ

च छ ज झ ञ

ट ठ ड ढ ण ड़, ढ़

त थ द ध न

प फ ब भ म

य र ल व

श ष स ह क्ष त्र ज्ञ श्र संयुक्त व्यंजन हैं। ज़, फ़, ऑ आगत धवनियाँ हैं।

हिंदी वर्णमाला के बारे में

आधुनिक हिंदी देवनागरी लिपि में लिखी गई है, जो संस्कृत के दो शब्दों देव से मिलकर बनी है। जिसका अर्थ है ‘भगवान’ और नागरी। जिसका अर्थ है ‘शहरी मूल’। देवनागरी की उत्पत्ति ब्राह्मी लिपि में हुई है। 5वीं शताब्दी ईसा पूर्व में भारतीय उपमहाद्वीप में ब्राह्मी लिपि में लेख। दस से अधिक भारतीय भाषाओं का विकास ब्राह्मी से हुआ है।

4. हिन्दी वर्णमाला में कुल कितने अक्षर होते हैं?

उत्तर: हिंदी 52 अक्षर: हिंदी व्यंजन (39) + हिंदी स्वर (13) = 52

ध्वनि क्या है?

हिन्दी भाषा की सबसे छोटी इकाई ध्वनि है। इस ध्वनि को ही वर्ण कहते हैं। अक्षरों की व्यवस्था के समुच्चय को अक्षर कहते हैं। उच्चारण के आधार पर हिंदी में 53 वर्ण हैं। इसमें 12 स्वर और 41 व्यंजन हैं। लेखन के आधार पर 57 अक्षर हैं, जिनमें 12 स्वर, 41 व्यंजन और 4 संयुक्त व्यंजन हैं। वर्णमाला के दो भाग होते हैं :- 1. स्वर 2. व्यंजन 1. स्वर क्या होता है :- जिन अक्षरों को स्वतंत्र रूप से बोला जा सकता है वे स्वर कहलाते हैं।

कवर्ग : क , ख , ग , घ , ङ

चवर्ग : च , छ , ज , झ , ञ

टवर्ग : ट , ठ , ड , ढ , ण ( ड़ ढ़ )

तवर्ग : त , थ , द , ध , न

प वर्ग : प , फ , ब , भ , म

अंतस्थ : य , र , ल , व्

ऊष्म : श , ष , स , ह

संयुक्त व्यंजन : क्ष , त्र , ज्ञ , श्र

hindi varnamala chart

1. उच्चारण के आधार पर स्वर :-

अ, आ , इ , ई , उ , ऊ , ए , ऐ , ओ , औ आदि।

2. लेखन के आधार पर स्वर :-

अ, आ, इ , ई , उ , ऊ , ए , ऐ , ओ , औ , अं , अ: , ऋ आदि।

हिंदी में उच्चारण के आधार पर 45 वर्ण

स्वर 10

व्यंजन 35

लेखन के आधार पर 52 वर्ण होते हैं

स्वर 13

व्यंजन 35

संयुक्त व्यंजन 4

हिंदी वर्णमाला कविता

आजकल बच्चों को पढ़ाने के लिए बहुत सारी कविताएं और कविताएं चल रही हैं। वास्तव में बच्चों को कविता भुगतान के साथ सीखने का यह बहुत अच्छा तरीका है। अगर आप YouTube सर्च करेंगे तो आपको Poem मिल जाएगी।

स्वर और व्यंजन के बीच मुख्य अंतर

यह बहुत अच्छा प्रश्न है कि स्वर और व्यंजन में मुख्य अंतर क्या है? तो आइए जानते हैं – स्वर और व्यंजन की परिभाषा के अनुसार हम कह सकते हैं कि स्वरों के उच्चारण में हमारे मुख से बिना किसी रुकावट के वायु निकलती है और साथ ही उनका उच्चारण बिना किसी व्यंजन के किया जाता है। जबकि दूसरी ओर व्यंजन वे अक्षर होते हैं जिनके उच्चारण में बाधा और टकराव के साथ हमारे मुंह से हवा निकलती है और स्वरों के प्रयोग के बिना उनका उच्चारण नहीं किया जा सकता है।

1.ह्रस्व स्वर-

जिन स्वरों के उच्चारण में कम-से-कम समय लगता हैं उन्हें ह्रस्व स्वर कहते हैं। ये चार हैं- अ, इ, उ, ऋ। इन्हें मूल स्वर भी कहते हैं।

2.दीर्घ स्वर-

जिन स्वरों के उच्चारण में ह्रस्व स्वरों से दुगुना समय लगता है उन्हें दीर्घ स्वर कहते हैं। ये हिन्दी में सात हैं- आ, ई, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ।

विशेष- दीर्घ स्वरों को ह्रस्व स्वरों का दीर्घ रूप नहीं समझना चाहिए। यहां दीर्घ शब्द का प्रयोग उच्चारण में लगने वाले समय को आधार मानकर किया गया है।

3.प्लुत स्वर-

जिन स्वरों के उच्चारण में दीर्घ स्वरों से भी अधिक समय लगता है उन्हें प्लुत स्वर कहते हैं। प्रायः इसका प्रयोग दूर से बुलाने में किया जाता है।

4.मात्राएँ-

स्वरों के बदले हुए स्वरूप को मात्रा कहते हैं स्वरों की मात्राएँ निम्नलिखित हैं-

5.स्वर मात्राएँ

शब्द अ × – कम

आ ा – काम

इ ि – किसलय

ई ी – खीर

उ ु – गुलाब

ऊ ू – भूल

ऋ ृ – तृण

ए े – केश

ऐ ै – है

ओ ो – चोर

औ ौ – चौखट

निष्कर्ष (Conclusion)

तो दोस्तों इस पोस्ट में हमने हिंदी वर्णमाला के बारे में विस्तार से पढ़ा। हमने देखा है कि हिंदी वर्णमाला क्या है, अक्षर, स्वर और व्यंजन क्या है। दोस्तों हमारी कोशिश रहती है कि हम आप लोगों को किसी भी विषय में विस्तार से और बहुत ही उम्मीद भरे शब्दों में समझा सकें, इसलिए इस पोस्ट में भी हमने Hindi Varnamala Chart के बारे में बहुत ही उम्मीद के साथ समझाने की कोशिश की है।

हिंदी बोलना हो या हिंदी में कुछ भी लिखना हो, हमें वर्णमाला का प्रयोग अवश्य ही करना चाहिए क्योंकि हिंदी अक्षरों के प्रयोग से बनी है, इसलिए हम सभी को इसकी जानकारी होनी चाहिए। हिंदी वर्णमाला से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर (Hindi Varnamala Chart से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर), हिंदी में वर्णमाला, हिंदी बाराखड़ी, हिंदी में अक्षर भी बताए गए हैं।

अंत में मैं आपसे यही कहना चाहूंगा कि अगर आपको यह Hindi Varnamala Chart का पोस्ट पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसे पढ़ सकें।

ये भी पढ़ें

Manusmriti in Hindi में जानकारी

How to Insert Page Number in Word | How to Insert Page Number in MS Word

How to Underline in Whatsapp | How to Underline Text in Whatsapp

How To Get Airtel Number | Airtel Number Check Code

How To Port Jio To Airtel | How to Port Jio to Airtel Online

Paheli in Hindi: Paheli With Answer

Related articles

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest articles

Quinoa in Hindi Name और इसके फायदों की पूरी जानकारी सिर्फ यहां

Quinoa in Hindi Name: भारत के लोगों में क्विनोआ खाने का क्रेज तेजी से बढ़ता जा रहा है। हालांकि यह आसानी...

Hindi Varnamala Chart को विस्तार से जानिए

आज हम आपके लिए लाए हैं Hindi Varnamala Chart| इसमें आप ए से के तक Hindi Varnamala Chart कि सभी शब्दों...

मोटापे से हैं परेशान? तो Ragi in Hindi में जानिए इसके लाभ और नुकसान।

रागी के फायदे वजन कम करने में ही नहीं प्रोटीन से भरपूर रागी खाने के और भी कई फायदे हैं। शरीर...

टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि सेवन, दाम्पत्य जीवन होगा सुखी

टाइम बढ़ाने की मेडिसिन पतंजलि की पूरी जानकारी आपको हमारे इस article में मिलेगी| अगर आपकी भी s*x टाइमिंग कमजोर है...

ब्लड टेस्ट से जाने बाल झड़ने का 12 कारण

वर्तमान में 70 प्रतिशत युवा बाल झड़ने की समस्या से जूझ रहे हैं। बालों के झड़ने का कारण क्या है, इसके...

Newsletter

Subscribe to stay updated.